ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
  मेडिकल कालेज  में अमरावती से आये व्यक्ति  की रिपोर्ट पोजिटिव आने से मचा हडकंप
March 27, 2020 • Vikas Deep Tyagi • मेरठ
  • सम्पर्क में आये सभी व्यक्तियों की जांच की जाएगी,बहनोई ने कराया मेडिकल में कराया भर्ती  

यूरेशिया संवाददाता

मेरठ । कोरोना वायरस के संक्रमित व्यक्तियों ने मेरठ में प्रवेश कर लिया है। महाराष्टï्र के अमरावती से आये व्यक्ति में जांच पडताल के बाद पोजिटिव लक्षण मिलने से मेडिकल कालेज में हंडकप मच गया है। कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति का उपचार आइसोलेशन वार्ड में चिकित्सकों की देखरेख में किया जा रहा है। मेडिकल कालेज में अब तक ५२  संदिग्धों मरीजों की जांच पडताल की जा चुकी है। जिसमें सभी की जांच रिपोर्ट निगेटिव आयी है।
 खुर्जा निवासी इकरामुददीन महाराष्ट्र के अमरावती में काम करता था। वहां पर कोरोना वायरस से संक्र मित व्यक्तियों के सम्पर्क में आया था। लॉक डाउन होने के  कारण वह किसी तरह मेरठ पहुचा तो उसकी तबियत बिगड गयी। जिस पर उसके बहनोई ने उसे मेडिकल कालेज में कल भर्ती कराया था। जिसे बुखार ,खांसी की शिकायत थी। इकरामू की जांच माइक्रोबायोलॉजी विभाग में की गयी। जिसकी रिपोर्ट पोजिटिव आयी। तत्काल उसे विशेष वार्ड में भर्ती कराया गया। जैसे ही इस बात की जानकारी विभाग के अधिकारियों को लगी वहंा पर हडकंप मच गया। आनन फानन में उसकी टैवल हिस्ट्री को खंगाला जा रहा है। वह अमरावती से कैसे मेरठ तक पहुंचा है कौन - कौन उसके सम्पर्क में आये थे। इस बात की जांच पडताल की जा रही है।  उसके बहनोई की स्क्रीनिंग की जा रही है।
  पूरी सावधानी बरत रहे उपचार कर रहे चिकित्सक
 जिस वार्ड कोरोना से संक्रमित पोजिटिव मरीज को रखा गया है। उसके आसपास पूरी सर्तकता बरती जा रही है। उपचार में लगे चिकित्सक पूरी ड्रेस के साथ उसका उपचार कर रहे है। चिकित्सकों को डर सता रहा है। वार्ड में आने वालों पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया  गया है। जिससे उसका सकंमण अन्य लोगों तक न फै ल पाये।  
 सीएमओ डा राजकुमार ने बताया खुर्जा का रहने वाला इकरामुददीन जो अमरावती में  काम करता था उसे मेडिकल कालेज के अइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। जिसे खांसी व बुखार की शिकायत थी। जिसकी जांच पडताल में रिपोर्ट पोजिटिव आयी है। उन्होने शहर की जनता से अपील की है। सोशल डिस्टेंस बनाये रखे। अफवाहों पर ध्यान न देे। उन्होने बताया अभी तक ५२ संदिग्धों की जांच मेडिकल कालेज के माइका्रेबॉयोलाजी की लैब में  की जा चुकी है। जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आयी है।