ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
अब जिले में डाकिए, पहुंचाएंगे टीबी मरीजों के सैम्पल
March 24, 2020 • Vikas Deep Tyagi • मेरठ
  • राज्य क्षय रोग और डाक विभाग में करार

  यूरेशिया संवाददाता

मेरठ । देश से वर्ष 2025 तक क्षय रोग टीबी के पूरी तरह से खात्मे के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संकल्प को तय समय सीमा से पहले पूरा करने के लिए प्रदेश में चलाये जा रहे कार्यक्रमों और योजनाओं को धार देने की हरसंभव कोशिश की जा रही है । इसी क्रम में टीबी मरीजों के सैम्पल की जल्द से जल्द बेहतर जाँच कराने के लिए राज्य क्षय रोग विभाग और भारतीय डाक विभाग में मंगलवार को विश्व क्षय रोग दिवस  मंगलवार पर करार हो गया है । इसके तहत अब प्रदेश के सभी 75 जिलों में टीबी मरीजों का सैम्पल लैब तक पहुँचाने का काम डाकिये करेंगे । इससे पहले यह सैम्पल कोरियर से भेजे जाते थेए जिससे उसमें अधिक समय लगता था । पायलट प्रोजेक्ट के तहत लखनऊ समेत प्रदेश के पांच जिलों में पहले चरण में यह कार्यक्रम नौ महीने पहले चलाया गया था । उसमें सफलता मिलने के बाद विभाग अब यह बडा कदम उठाने जा रहा है ।
  जिला क्षय रोग अधिकारी डा एम एस फौजदार ने बताया कि टीबी मरीजों के मामले में सबसे बडी चुनौती जल्दी से जल्दी जाँच कराने की होती है क्योंकि एक टीबी मरीज अनजाने में न जाने कितने लोगों को संक्रमित कर सकता है । इसी को देखते हुए डाक विभाग से करार किया गया है कि वह प्रदेश के करीब 2300 अधिकृत टीबी जाँच केन्द्रों से 24 घंटे के अन्दर 142 सीबीनाट मशीन सेंटर तक सैम्पल पहुँचाने का काम करेगा । इसके साथ ही 142 सीबीनाट मशीन सेंटर से प्रदेश के छह जिलों मेरठ,लखनऊ, आगरा, अलीगढ, बरेली,  व वाराणसी में स्थित ड्रग कल्चर टेस्ट सेंटर तक 48 घंटे के अन्दर सैम्पल पहुँचाने का काम करेगा । इससे जहाँ समय की बचत होगी वहीँ अनजाने में किसी को टीबी जैसी बीमारी की जद में आने से बचाया भी जा सकेगा । इसके साथ ही गोरखपुर में भी जल्द से जल्द ड्रग कल्चर टेस्ट सेंटर खोलने की तैयारी है । प्रयागराज,कानपुर, इटावा और झाँसी में भी इस तरह के सेंटर शुरू करने पर काम चल रहा है । इससे मरीजों को चिन्हित करने में और समय बचेगा और उनका इलाज भी जल्दी शुरू किया जा सकेगा ।
 उन्होने बताया जिले में २०१९ में प्राइवेट अस्पतालों में ४४५० व सरकारी चिकित्सालयों में ८८९९ मरीजो ने अपना इलाज कराया। इस साल अब तक ९८९ मरीज चिन्हित किये गये है। इस जनपद में १३३४९ मरीज टीबी के है। उन्होनें बताया ४५ केन्द्रों पर टीबी की जांच नि:शुल्क करायी जा रही है। इसके अतिरिक्त ६ आईटीटीसी पर भी जांच करायी जा रही है।