ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
गंगा मेले पर कराया अपने नौनिहालो का मुंडन संस्कार
November 22, 2019 • Vikas Deep Tyagi • मुरादाबाद मंडल


जयकरन सिंह
गजरौला यूरेशिया। मानव के जन्म से लेकर मृत्यु तक उसके समाजिक जीवन में अनेकों संस्कार किये जाते हैं। मनुष्य के जन्म लेने पर उसी खुशी में सभी मानव जातियों में अपने-अपने रीति रिवाजों से अनकों परमपराओं को आज भी धूम-धाम से निभाया जा रहा है। वैसे वैज्ञानिक खोजों से पता चला है कि मनुष्य ही नही बल्कि जीव-जन्तु, पशु-पक्षियों में भी अपनी सन्तान के जन्म पर खुशी का इजहार करने की परम्पराओं का पता चला है। ऐसा ही एक संस्कार है नौनिहालो मा मुंडन संस्कार। जिसे भारत देश में हिन्दु धर्म को मानने वाले लोग अनेक अवसरों पर अपने बच्चों का मुंडन संस्कार कराते हैं। जिसमें कार्तिक पूर्णिमा पर लगने वाले मेले पर अधिकांश मुंडन संस्कार कराये जाते हैं। जो अपने डेरे लेकर कई दिन पहले ही गंगा की रेती में तम्बु लगाकर रेन-बसेरा बना लेते हैं। जिसमें परिवार के साथ-साथ संगे-सम्बन्धियों के बच्चे व परिजन भी भाग लेते हैं। बताते हैं कि जब तक बच्चे का मुंडन संस्कार नही होता उसकी मांॅ गंगा में स्नान नही करती। ग्राम सेलिया के अकसित की मां सुमन ने बताया कि एक मां अपने बच्चे को पालने के लिए काफी कष्ट खुशी-खुशी सहती रहती है। एक बच्चे की परवरिस में माता-पिता का महत्वपूर्ण योगदान रहता है, इसलिए बच्चों को बड़े होकर अपने माता-पिता को कष्ट नही देना चाहिए।