ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
जिला अधिकारी से शिकायत के बाद भी नहीं हो रही है गबन की जांच
October 10, 2020 • URESHIYA News • मेरठ

उस्मान खान यूरेशिया संवाददाता

सरूरपुर। विकास खण्ड के ग्रामीणों ने प्रधान व पंचायत सचिव पर खड़ंजे के नाम पर गबन करने व फर्जी तरीके से शौचालयों के पैसे निकालने की मार्च में जिलाधिकारी से शिकायत की थी। जिसके बाद जिलाधिकारी ने जिले के डीआईओएस को एक महीने में जांच कर रिपोर्ट देने के आदेश दिए थे। उसके बाद लॉक डाउन लगने के कारण समय पर जांच नहीं हो सकी। लॉक डाउन को खत्म हुए भी दो महीने बीत चुके है। लेकिन अभी तक कोई अधिकारी जांच करने गांव नहीं पहुंचा है। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि शुक्रवार को गांव में जांच के लिए डीआईओएस आने थे, दोपहर तक इंतजार करने के बाद जानकारी की गई तो उन्होंने कोरोना संक्रमित होने की बात कही।

डाहर गांव निवासी बादल पुत्र फेरू सिंह ने तीन फरवरी को जिलाधिकारी से ग्राम प्रधान प्रवीण कुमार व पंचायत सेकेट्री भूपेंद्र शर्मा पर खड़ंजे के नाम फर्जी तरीके से पैसे निकालने ओर पुराने शौचालयों को नया दर्शाकर पैसे हड़पने का आरोप लगाकर शिकायत की थी। जिसके बाद तत्कालीन जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने जिले के डीआईओएस ग्रिजेश चौधरी को एक महीने में जांच कर रिपोर्ट सौपने के आदेश दिए थे। बीच मे कोरोना संक्रमण के बढ़ते केशो के कारण लॉक डाउन लग गया था। जिसमे कारण जांच नहीं हो सकी थी। अब लॉक डाउन खत्म हुई भी दो महीनों से अधिक का समय हो चुका है बावजूद इसके कोई अधिकारी जांच करने अभी तक गांव नहीं पहुंचा है। वहीं शिकायतकर्ता के अनुसार शुक्रवार को टीम जांच करने गांव आनी थी। जब दोपहर तक भी कोई नहीं पहुंचा तो जानकारी करने पर पता चला कि डीआईओएस कोरोना संक्रमित है जिसके कारण अभी जांच नही की जा सकती