ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव ने जिला कारागार का किया औचक निरीक्षण
September 7, 2020 • विकास दीप त्यागी • सहारनपुर मण्डल

चौधरी वीरेंद्र सिंह ओहलान

सहारनपुर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सहारनपुर सचिवध्न्यायिक अधिकारी (वरिष्ठ) श्रीमती सुमिता द्वारा कारागार में निरूद्व बन्दियों के स्वास्थ्य की जानकारी ली। उन्होंने बैरक का निरीक्षण कर समुचित साफ- सफाई के निर्देश दिए। उन्होंने अवगत कराया कि जिन बंदियों ने अपने मुकदमों की पैरवी के लिए लायर्स की मांग की थी, उन्हें पैनल लायर्स की सुविधा उपलब्ध करा दी गयी है। उन्होंने महिला बैरक, अस्पताल तथा पुरूष बैरक का निरीक्षण किया। वरिष्ठ कारागार अधीक्षक को जरूरी निर्देश दिए। श्रीमती सुमिता ने आज आज यहां जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्षध्जिला जज सर्वेश कुमार के मार्ग दर्शन में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जारी माह सितम्बर के एक्शन प्लान 2020 के अनुपालन में जिला कारागार सहारनपुर का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान  बैरकों में साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। उन्होंने जेल प्रशासन को उन बन्दियों की सूची देने को कहॉ जिनकी जमानत न्यायालय से तो हो चुकी है परन्तु उन्होने जमानती दाखिल नही किये हैं। सचिव द्वारा जिला कारागार अस्पताल व विडियों कान्फ्रेन्सिग हॉल आदि का निरीक्षण किया। जिला कारागार में निरूद्व बंदियों को कोविड-19 की महामारी के सक्रमण से बचाव के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई। वरिष्ठ अधीक्षक कारागार श्री वीरेश राज शर्मा द्वारा बताया गया कि कोविड-19 महामारी के चलते जिला कारागार में अस्थायी जेल स्थापित की गयी है जिसमें महिला बंदी व पुरूष बन्दियों के लिये अलग-अलग व्यवस्था की गई है। वर्तमान में 170 पुरूष व 06 महिला बन्दी है जिनका उपंचार समय समय पर डा. नासिर खान द्वारा किया जाता हैं। उन्होंने सचिव को बताया कि जो बन्दी कारागार में न्यायालय के आदेश से आते है उन्हे सीधे स्थायी कारागार में न रखकर अस्थायी जेल में रखा जाता है तथा उनका कोविड-19 टेस्ट कराया जाता है जो बन्दी संक्रमित पाये जाते है उनका इलाज ग्लोकल हास्टिपल मिर्जापुर में कराया जाता है तथा जिनकी रिर्पोट निगेटिव आती है, उन्हे भी अस्थायी जेल में 14 दिनो तक रखा जाता है और जब उनमें कोई लक्षण किसी प्रकार का नही मिलता है तो उन्हे स्थायी जेल में भेज दिया जाता हैं। जेल प्रशासन ने जेल में बढ़ते करोना सक्रमण के बारे में सचिव को अवगत कराया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सहारनपुर सचिव ने जिला करागार में निरीक्षण के दौरान निरूद्व बन्दियों को कोरोना सक्रंमण से बचाव हेतु कुछ महत्वपूर्ण बातों की जानकारी दी। उन्होंने  साफ सफाई का ध्यान रखे, साबुन से हाथ धोते रहे, सेनेटाईजर का प्रयोग करे, हमेंशा चेहरे पर मास्क लगाये, एक दूसरे से दो गज की दूरी बनाये रखे, छीकते व खासते समय मुहं पर कपडा या रूमाल अवश्य बांधे, स्वय को अस्वस्थ महसूस होने पर तुरन्त चिकित्सक से सम्पर्क करें। श्रीमती सुमिता ने महिला बैरक में भी निःशुल्क पैरवी हेतु अधिवक्ता उपलब्ध कराये जाने का आश्वासन दिया गया। जेल विजिटर को निर्देश दिये गये कि जिन बन्दियों को उनके मुकदमें सम्बन्धी जो भी समस्या हो उसकी लिस्ट बनाकर मेरे समक्ष रखना सुनिश्चित करें। उन्होंने जिला वरिष्ठ कारागार अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि यदि कोई अस्वस्थ नजर आये तो उसे तुरन्त डाक्टर को दिखायें। निरीक्षण के समय डिप्टी जेलर, हिमांशु रोतेला डा. प्रवीन पुण्डीर, श्री अशोक कुमार जेल विजिटर, दीपक सैनी व जेल स्टाफ आदि उपस्थित रहे।