ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
कोरोना का साइड इफेक्ट: श्राद्व का निमंत्रण लेने से कतरा रहे पंडित जी 
September 6, 2020 • विकास दीप त्यागी • सहारनपुर मण्डल

  • पंडित जी की तलाश में यजमान हो रहे परेशान

अरविन्द सिसौदिया/युरेशिया संवाददाता

नानौता (सहारनपुर)। कोरोना संक्रमणकाल का असर पितृ ( श्राद्व ) पक्ष पर दिख रहा है। इस दौरान पंडित जी श्राद्व भोज का निमंत्रण लेने से बचते नजर आ रहे है। जिसके चलते यजमानों को पंडित जी की तलाश में परेशानी का सामना करना पड रहा है। इसका एक बडा कारण बिना लक्षण मिलने वाले कोरोना पीडित भी मानें जा रहे है।
कोरोना काल का असर जहां अधिकांश त्यौहारों पर पडा है तो वहीं अब श्राद्व पक्ष भी अछूता नहीं रह गया है। कोरोना के चलते इस बार पंडित भी यजमान के घरांें का श्राद्व भोजन का निमंत्रण लेने से थोडे बचते नजर आ रहे है। अधिकांश पंडित जी केवल उन्हीं यजमानों के घरों पर ही भोज करने जा रहे है जहां उनका पुराना आना जाना है। इतना ही नहीं इस बार पंडित जी अपने यजमान परिवार से पहले यह पूछ रहे है कि उनके घर में कोई बीमार तो नहीं है। इसके बाद ही अपने पुराने यजमानों का निमंत्रण स्वीकार कर है। लोगों की मानें वैसे तो पंडितो की कमी पहले से ही है। लेकिन कोरोनाकाल के चलते यह परिस्थिती और ज्यादा विकट हो गई है।

क्या कहते है पंडित जी -

पंडित विरेन्द्र शर्मा, पं मांगेराम शर्मा, पं राजेश शास्त्री, पं मोहित भारद्वाज, पं परेन्द्र शर्मा, पं वरदान पाराशर आदि का कहना है कि कोरोना संक्रमण काल में विकल्प के तौर पर यदि पंडित जी न मिल पाएं तो भोजन को सर्वप्रथम मंत्रजाप करते हुए थोडा सा अग्नि को समर्पित कर बाकी भोजन गाय को खिला दंे। यदि यह भी संभव न हो तो किसी भूखें और बेसहारा मनुष्य को भोजन करा दें। इसके अलावा पंचग्रास निकालें। जिसमें आकाश, जल, भू ,ग्राम्य और पशु के निर्मित कौवा, मछली, कुत्ता, चींटी और गाय को इसे खिला दें।