ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम विश्व में करोड़ों हिंदुओं की आस्था के केंद्र :  डॉ. नीरज कौशिक
July 18, 2020 • विकास दीप त्यागी • बागपत/ बड़ौत

विश्व बंधु शास्त्री
बागपत। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम व राम की नगरी अयोध्या को लेकर नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली के द्वारा कि गई टिप्पणी से हिंदू समाज वह साधु-संतो में आक्रोश भड़क उठा है। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व जिला उपाध्यक्ष डॉ. नीरज कौशिक ने नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली से माफी मांगने की मांग के साथ ही उनकी कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि यह टिप्पणी उनकी विकृत मानसिकता व भारतीय संस्कृति सभ्यता भगवान श्री राम के विषय में अल्प ज्ञान उन्हें अपना ज्ञान वर्धन करना चाहिए।
डॉ. नीरज कौशिक ने भाजपा कार्यालय से विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि देश में नेपाल के प्रधानमंत्री के. पी. शर्मा होली की विवादित टिप्पणी को लेकर आक्रोश बढ़ता जा रहा है उनके इस बयान को लेकर जहां संतों-महात्माओं ने चेतावनी दी है तो वहीं हिंदू समाज में उनकी इस टिप्पणी को लेकर आक्रोश है जिसको लेकर देश के विभिन्न हिस्सों में आंदोलन करने की चेतावनी दी गई है। उन्हें अपनी इस कथित टिप्पणी पर भारत देश के साथ-साथ हिंदुओं की आस्था के केंद्र मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम से भी माफी मांगनी चाहिए।
डॉ. नीरज कौशिक ने नेपाल के प्रधानमंत्री को चुनौती देते हुए कहां कि यदि भारत के किसी की धर्म पर कोई भी देश उंगली उठाएगा तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भगवान श्री राम की नगरी अयोध्या एक ही है जो उत्तर प्रदेश भारत में है वो कहते है भगवान श्री राम की नगरीअयोध्या नेपाल में है नेपाली प्रधानमंत्री का धार्मिक मामलों पर गलत बयान देना निंदनीय है। भगवान श्री राम के व्यक्तित्व कृतित्व और अस्तित्व किसी भी प्रकार से जनमानस में भ्रम फैलाना गलत है। इस तरह की बात करना उनकी विकृत मानसिकता को दर्शाता है भारत के खिलाफ ऐसी हरकतें छोड़ देनी चाहिए। पुराण भी बताते हैं कि भगवान श्री राम कहां के हैं। चीन के दबाव उन्होंने भारत के खिलाफ गलत बयान दिया है बेहतर होगा कि पहले वह रामचरितमानस को पढ़ें और मानस के दर्शन को समझे इसके बाद कोई बयान जारी करें। 
डॉ नीरज कौशिक ने कहा कि त्रेता युग के मर्यादापुरुषोत्तम भगवान राम के बारे में कलयुगी व्यक्ति के बयान का क्या मतलब। उनके कहने से न तो अयोध्या नेपाल में हो जाएगी, न ही भगवान श्रीराम नेपाल के। उनका बयान निंदनीय है। इस तरह की बात करना उनकी विकृत मानसिकता को दर्शाता है मैं भारत सरकार से इस संबंध में तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग करता हूं।