ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले विधायक
February 28, 2020 • Vikas Deep Tyagi • मेरठ

मुख्यमंत्री से मिलते केंट व मेरठ दक्षिण के विधायक।

यूरेशिया संवाददाता

मेरठ। हवाई अड्डे, खेल विश्वविद्यालय, राजकीय इंटर कॉलिज, ईएसआई अस्पताल, स्मृति भवन, जोनल पार्क का नाम क्रान्ति पार्क, इनर रिंग रोड, आधुनिक ऑडीटोरियम हिन्दी ई-पुस्तकालय बनाये जाने की मांग की।
लखनऊ में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुरूवार को मेरठ  दक्षिण विधायक डा. सोमेन्द्र तोमर व मेरठ कैन्ट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल ने मुलाकात की और कई विषयों पर विस्तृत चर्चा की। डा. सोमेन्द्र तोमर ने अवगत कराते हुए कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश खेल जगत से कई प्रतिभाओं ने अन्तराष्ट्रीय स्तर पर देश व प्रदेश का नाम रोशन किया है लेकिन यहां की खेल जगत की प्रतिभाओं को अन्तराष्ट्रीय स्तर पर अपने कौशल को निखाने की मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नही है। मेरठ में भी कानपुर खेल विश्वविद्यालय की तर्ज पर एक खेल विश्वविद्यालय की स्थापना होनी चाहिए। मेरठ अपने खेल उद्योग, कैंची उद्योग, सर्राफा, टेक्सटाईल उद्योग, पेेपर उद्योग, प्रिन्टिंग उद्योग आदि के लिये विश्व प्रसिद्व है। परन्तु देश व विदेश के त्वरित आवागमन के लिए यहां पर हवाई सुविधाएं उपलब्ध नही है जिससे उद्यमियों का देश व विदेश के अन्य स्थानों पर पहुंचनेे में काफी समय खराब होता है जनहित में परतापुर हवाई पट्टी का विस्तार करते हुए हवाई अड्डे की स्थापना किया जाना आवश्यक है। ग्राम गगोल व ग्राम फफूण्डा की आबादी 15 हजार है जिसके आसपास बालिकाओं की शिक्षा के लिये कोई भी इण्टर कालिज नही है। मेरठ के उद्योगपुरम, रिठानी, परतापुर, बागपत रोड, सूरजकुण्ड रोड, मोहकमपुर, साईपुरम आदि स्थानों में औद्योगिक इकाईयां संचालित हैै। जिसमें करीब 80 हजार ईएसआई कार्ड धारक है मेरठ के शताब्दीनगर में इस हेतु भूमि उपलब्ध है मेरठ के शताब्दीनगर में ईएसआई हास्पिटल की स्थापना किया जाना आवश्यक है।
विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल ने अवगत कराते हुए कहा कि मेरठ में साहित्यिक सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने हेतु वर्ष 1965 में मेरठ में राजर्षि पुरूषोत्तम दास टण्डन हिन्दी भवन समिति का गठन किया गया था जिसमें तभी से निरंतर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम होते रहे है धनाभाव के कारण उक्त हिन्दी भवन जर्जर हो गया है। मेरठ में आधुनिक ऑडीटोरियम हिन्दी ई-पुस्तकालय बनाया जाना आवश्यक है। साथ ही साथ मेरठ में हवार्ड अड्डे की मांग की।