ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
पहली पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद मेरठ में सतर्कता और बढ़ी
March 28, 2020 • Vikas Deep Tyagi • मेरठ
  • डीएम के आदेश पर शास्त्रीनगर सैक्टर १३ , सराय बहलीम, सोहराबगेट , हूमायू  नगर के  १ किलोमीटर के दायरे को ३० मार्च तक किया सील  
  • न कोई बाहर सकेगा न कोई अंदर जा सकेगा  
  • पत्नी व तीन रिश्तेदार भी आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किये गये
  • 19 मार्च को अमरावती से मेरठ आया था यह व्यक्ति 22 को बिगड़ी थी तबियत
  • जिन लोगों से यह परिवार मिला, उनकी भी होगी जांच

यूरेशिया संवाददाता

मेरठ। जनपद में कोरोना वायरस की पहली रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सतर्कता और बढ़ा दी है। जिस व्यक्ति की पॉजिटिव रिपोर्ट आयी हैए उसकी पत्नी व तीन रिश्तेदारों को भी आइसोलशन वार्ड में भर्ती कर लिया गया है। इसके साथ ही विभाग हर उस व्यक्ति पर पैनी नजर रखने की कोशिश में जुटा हैए जिस.जिस से यह व्यक्ति और इसका परिवार मिला था। वहीं जिलाधिकारी  अनिल ढीगरा के  के  आदेश पर हुमायू  नगर, सोहराबगेट, शास्त्रीनगर के सैक्टर १३ व सराय  बहलीम के एक किलोमीटर के दायरे केा आगामी ३० मार्च तक सील कर दिया गया। अब वहा ३० मार्च तक न कोई आ सकेगा न ही कोई वहां जा सकेगा। पूरे क्षेत्र को सेनिटाइज कर सडकों पर छिडकाव कराया जा रहा है। पॉजिटिव आये मरीज के ३५ से ४० रिश्तेदारो कों स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सैंपल लिये है जिन्हें जांच के लिये भेजा गया है।
  बता दें अमरावती से ट्रेन में सवार होकर 19 मार्च को पत्नी के संग मेरठ आये खुर्जा निवासी में कोरोना वायरस के लक्षण पाये गये  थे। जिसके बाद  स्वास्थ्य विभाग ने सतर्कता और बढ़ा दी है। मेडिकल कालेज के आइसोलेशन वार्ड में कोरोना पॉजिटिव मरीज के साथ उसकी पत्नी व तीन रिश्तेदारों को भी रखा गया है। अब स्वास्थ्य विभाग की टीम इस व्यक्ति के रिश्तेदारों व जिन.जिन स्थानों पर वह गया था और किस .किस के सम्पर्क में वह आयाए इसका विस्तृत ब्योरा खंगाला जा रहा है। अब तक मेरठ में एक भी व्यक्ति पॉजिटिव नहीं होने के चलते स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन काफी राहत में थाए लेकिन अब इनकी परेशानी बढ़ गयी है। विभाग के अधिकारियों ने नये सिरे से कार्य योजना बनाना शुरू कर दिया है।
 शनिवार को जिलाधिकारी अनिल ढीगरा के आदेश पर हुमायू नगर,सरायबहलीम, सोहराबगेट, शास्त्रीनगर के सैक्टर १३ के १ किलोमीटर के दायरे केा आगामी ३० मार्च तक अस्थायी रूप से सील कर दिया गया है। इस दौरान वहां पर न कोई आ सकेगा न ही वहां पर कोई जा सकेगा। वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इकरामूददीन के ३५ से ४० रिश्तेदारों के सैंपल जांच के लिये लिये है। जिन्हें मेडिकल कालेज के माइक्रोबॉयलॉजी लैब में जंाच के लिये भेजा गया है। वहीं निगम के कर्मचारियों ने उक्त क्षेत्रों को सेनिटाइज करने के  लिये सडकों पर व मकानों के आसपास छिडकाव किया गया। पूरे क्षेत्र में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है लोगों से उन्हें अपने घरों में रहने की हिदायत दी गयी है।
  बता दें अमरावती में काम करने वाला यह व्यक्ति अपनी पत्नी के साथ 19 मार्च को ट्रेन से मेरठ पहुंचा थाए वह पहले शास्त्री नगर स्थित अपनी ससुराल में रुकाए तभी से उसे बुखार था। इसी हालत में वह अगले दिन एक विवाह समारोह में शामिल हुआ। इसके बाद वह हुमायूं नगर अपनी रिश्तेदारी में भी गया और वहां रूका था। तबियत खराब होने के कारण उसकी पत्नी के दो भाई उसे अपने घर ले आये। 26 मार्च को सांस लेने की तकलीफ होने पर उसे मेडिकल कालेज मेरठ में भर्ती कराया गया। जांच कराने पर उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी। इसके बाद उसकी पत्नी व पत्नी के दोनों भाइयों को भी मेडिकल कालेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। शनिवार को इनकी भी जांच करायी गयी है। अगर इनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आती है तो उनकी पूरी ट्रैवल हिस्ट्री चेक की जाएगी। उन स्थानों की जांच की जाएगीए जहां वह ठहरा था। यह भी देखा जाएगा कि वह किन .किन लोगों से मिला था। विभाग के अधिकारियों को इस बात की चिंता है कि कहीं वह लोग भी संक्रमित नहीं हो गये हों जो इन लोगों के सम्पर्क में आये थे। अगर इसकी संख्या बढ़ी तो यह खतरे का संकेत हो सकता है। अभी परिवार के सदस्यों की रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है।

  • शास्त्रीनगर व हुमायूं नगर में लोग परेशान

कोरोना वायरस के मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से उन क्षेत्रों के लोग परेशान हैं, जहां पर वह रुका था और जिन लोगों से मिला था। ऐसे में लोगों को संक्रमित होने की चिंता सता रही है। ऐसे लोगों ने स्वास्थ्य विभाग से सम्पर्क कर अपनी जांच कराने के लिये कहा है। विभाग इसकी तैयारी कर रहा है। वही क्षेत्र ३० मार्च तक सील होने से उनकी परेशानी बढ गयी है। सबकेा चिंता सता रही है।

होटलों में क्वेरेंटाइन

स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल कालेज स्टाफ के लिये अब होटलों में क्वेरेंटाइन वार्ड बनाये जाने के निर्देश दिये हैं। इसके लिये शहर होटल तलाश किये जा रहे हैं। लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज के प्राचार्य डाण् आरसी गुप्ता ने बताया क्वेरेंटाइन वार्ड बनाने के लिये निर्देश वीडियो  कान्फ्रेंसिंग में दिये गये हैं। उन्होंने बताया सुभारती मेडिकल कालेज में बने 180 बेड के आइसोलेशन वार्ड में लोगों को रखना शुरू हो गया है। इसमें दो लोगों को रखा गया हैए जिनकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आयी है। उन्होंने बताया सुभारती की लैब में कोरोना की जांच करने की व्यवस्था की जा रही हैए जिससे मेडिकल कालेज की लैब का बोझ थोड़ा कम किया जा सके।

मेडिकल कालेज  में कर्मचारियों ने किया काम करने से मना

मेडिकल कालेज में शनिवार को सुपर स्पेशियलिटी के ८० से ९० स्टॉफ काम करने से मना कर दिया। उनका कहना था कि उन्हें सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के लिये रखा गया था । उन्हें अभी तक पांच माह से वेतन नहीं मिला है। उन्होने कोरोना वार्ड में  स्थायी कर्मचारियों की डयूटी लगाने की मांग की  । मेडिकल के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर किसी तरह उनका गुस्सा शांत करते हुए  काम पर लौटने के लिये कहा ।