ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
पंचायत चुनाव की आहट से सजनें लगी महफिलें
September 24, 2020 • URESHIYA News • उत्तर प्रदेश
  •  मतदाताओं को दिखाएं जाने लगे है सब्जबाग
  • लोगों में बस एक ही चर्चा बने शिक्षित, जुझारू और युवा ग्राम प्रधान

 अरविन्द सिसौदिया/युरेशिया

नानौता (सहारनपुर)  ग्राम पंचायत चुनाव कराए जाने का शासन से संकेत मिलते ही गांवों में चुनावी सरगर्मी जोर पकडने लगी है। तो वहीं गांवों में घर से लेकर चौपालो और बाजारों में लोगों के बीच गांव का प्रधान चुनने को लेकर महफिले सजने लगी है। पिछले चुनाव में जीते व हारे प्रत्याशी अपने-अपने जोर आजमाइश में जुट गए है। ऐसे में ग्रामीणों के बीच गुटबाजी का एक नया दौर भी शुरू हो गया है। 
पंचायत चुनाव की तैयारियां शासन स्तर से शुरू हो गई है। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम भी घोषित कर दिया है। जो एक अक्टुबर से शुरू होकर 29 दिसंबर तक चलेगा। इसी बीच प्रधान पद के उम्मीदवारों ने एक बार फिर से मतदाताओं को लुभाने के लिए सक्रियता दिखानी शुरू कर दी है। इसके लिए भावी प्रत्याशी मतदाताओं से ये कागज लाओ, वो कागज लाओ। बुजुर्गो को लुभाने के लिए वृद्वा व विधवा पंेशन बनवा देने की बात कह रहे है। तो वहीं युवाओं को मनरेगा में रोजगार से लेकर आगामी सरकारी योजनाओं का पूरा लाभ दिलाएं जाने का वायदा कर रहे है। यें भावी ग्राम प्रधान पद के प्रत्याशी लोगों के इतने फ्रिकमंद हो चुके है कि पूर्व में सरकारी योजनाओं या फिर अन्य काम से वंचित रह चुके लोगों को यें प्रत्याशी बिल्कुल उनके परिवार के सदस्यों की तरह नजर आ रहे है। कई ग्राम पंचायतों में तो पूरे पांच वर्ष मतदाताओं को यहीं बताया जाता है कि विकास के नाम पर कोई योजना ही नहीं आ रही है। इन्हीं ही चिकनी चुपडी बातों को सुनकर जरूरतमंद लोग पांच वर्षो तक यहीं सुनकर गुजार देते है। कि प्रधान जी कब उनके दस्तावेज लेकर उन्हें किसी योजना का लाभ दिला सके। लेकिन देखते ही देखते पूरे पांच वर्ष गरीब व जरूरतमंद लोगों के सामने सपने की तरह गुजर जाते है। 
आप भी जानिए कब-कब क्या होगा -
बीएलओ और पर्यवेक्षण को उनके कार्यक्षेत्र का आंवटन - 30 सितंबर
बीएलओं द्वारा घर-घर जाकर गणना और सर्वेक्षण करना-  एक अक्टुबर से 12 नवंबर तक
आवेदन करने की अवधि - एक अक्टुबर से 5 नवंबर
ऑनलाइन प्राप्त आवेदन पत्रों की घर-घर जाकर जांच करने की अवधि -  6 नवंबर से 12 नवंबर तक
ड्राफ्ट के रूप में प्रकाशित निर्वाचक नामावलियों की कंप्यूटरीकृत पांडुलिपी तैयारी- 13 नवंबर से 5 दिसंबर तक
ड्राफ्ट मतदाता सूची का प्रकाशन - 6 दिसंबर
ड्राफ्ट के रूप में प्रकाशित निर्वाचक नामवली का निरीक्षण- 6 से 12 दिसंबर तक
दावें एंव आपत्तियां प्राप्त करना - 6 दिसंबर से 12 दिसंबर 
दावें एंव आपत्तियों का निस्तारण - 13 दिसंबर से 19 दिसंबर
दावें और आपत्तियांे के निस्तारण के बाद पूरक सूचियो की पांडुलिपियो की तैयारी तथा उन्हें मूल सूची में यथा स्थान समाहित करने की कार्यवाही -20 दिसंबर से 28 दिसंबर
सूची का जन सामान्य के लिए अंतिम प्रकाशन - 29 दिसंबर तक होगा