ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
फसलें नष्ट करने के विरोध में भाकियू ने डीएम कार्यालय पर जताया रोष
September 7, 2020 • विकास दीप त्यागी • सहारनपुर मण्डल


सहारनपुर में भाकियू की बैठक को सम्बोधित करता वक्ता।

युरेशिया संवाददाता

सहारनपुर। भारतीय किसान यूनियन के प्रतिनिधिमंडल ने विगत दिवस सदर तहसील के गांव लाखनौर में किसानों की फसलों पर टैªक्टर चलवाकर कब्जा लेने के विरोध में भाकियू पदाधिकारियों ने प्रदेश उपाध्यक्ष चौ. विनय कुमार के नेतृत्व में जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर रोष जताया तथा किसानों के शोषण व उत्पीड़न पर अंकुश न लगने की स्थिति में आंदोलन का बिगुल बजाने की चेतावनी दी। इससे पूर्व कलक्ट्रेट परिसर में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष चौ. विनय कुमार ने कहा कि किसानों के साथ किसी प्रकार की जबरदस्ती व बदसलूकी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिलाध्यक्ष चौ. चरणसिंह ने कहा कि देवबंद तहसील में 2 हजार से 3 हजार रूपए तक तथा सहारनपुर मंडल मुख्यालय के गांव लाखनौर में 140 से 180 रूपए मात्र रेट है जो किसानों के साथ धोखा व अन्याय है। उन्होंने आरोप लगाया कि गांव के किसानों की चकों की चकरोड भी क्षतिग्रस्त कर दी गई है जिससे किसानों में रोष व्याप्त है। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन ने करीब 20 बीघा धान की कच्ची फसल नष्ट करवा दी जिसमें एक विधवा महिला शिक्षा की फसल भी शामिल है। उन्होंने कहा कि फसल नष्ट होने के बाद से ही विधवा महिला शिक्षा सदमे में है। यदि उसे कुछ हुआ तो उसका जिम्मेदार प्रशासन होगा। स. मनमोहन सिंह ने कहा कि जब तक किसानों की समस्या का समाधान नहीं होता, तब प्रशासन का जमीनों पर कब्जा नहीं होने दिया जाएगा। चौ. विनय कुमार ने गांव साखन, शहजादपुर व मीरपुर में ओवरब्रिज बनाने की मांग की। साथ ही जिन किसानों के खेत में रास्ता चल रहा है उन किसानों को मुआवजा दिलाने की मांग की। जिलाधिकारी व एसएसपी ने आश्वासन दिया कि जनपद में किसी भी किसान का उत्पीड़न नहीं किया जाएगा। इस दौरान चौ. अशोक कुमार, संजय चौधरी, मुकेश तोमर, अमित मुखिया, धीरसिंह, अजनीश कुमार, अतुल कुमार, योगेश कुमार, प्रदीप ठाकुर, सुरेश सैनी, प्रदीप चेयरमैन, मा. रघुवीर, नरेश स्वामी, राजपाल, भूपेंद्र त्यागी, नईम खां, अजय काम्बोज, केहर सिंह, डा. राजवीर सिंह, सुमित, जयपाल प्रधान, मनीष, वीरसिंह, स. गुरनाम सिंह, महीपाल सिंह, गुड्डू, मनोज, निर्भय फौजी, नरेश यादव, कमलेश, सुरेंद्र काम्बोज आदि शामिल रहे।