ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
पुलिस ने  किया विद्युत ट्रांसफार्मर व तार चोर गिरोह का खुलासा
September 3, 2020 • विकास दीप त्यागी • मेरठ
  •  महेंद्रा पीकप व होण्डा सिटी कार के साथ गिरोह के चार सदस्य दबोचे पांच फरार

सतीश चन्द त्यागी/युरेशिया
खरखौदा। थाना पुलिस ने  क्षेत्र में हुई विद्युत तार व विद्युत ट्रांसफार्मर चोरी की घटनाओं का गुरुवार को पुलिस ने खुलासा करते हुए चोरी किए गए तार व ट्रांसफार्मर के पाट्र्स चोरी में प्रयोग की गई कार व बुलैरो पीकप के साथ चोरी करने के उपकरण भी बरामद करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार किया वहीं पांच आरोपी फरार हो बताएं है ! पुलिस ने सभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर चारों को जेल भेज दिया! 
थाना प्रभारी अरविंद मोहन शर्मा के अनुसार बुधवार की रात मुखबिर द्वारा उन्हें सूचना दी गई कि क्षेत्र में विद्युत तार व ट्रांसफार्मर चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाला गिरोह कौल रोड़ पर घटना को अंजाम देने की फिराक में है ! सूचना केआधार पर कौल रोड़ पर खडखडी चोराहे पर पुलिस फोर्स के साथ पहुँच चौकिंग शुरू की गई ! इसी बीच खरखौदा की ओर से एक होण्डा सिटी कार संख्या एच आर 26 ए एस 2521आती दिखाई दी जिसे रोकने का इसारा किया गया तो चालक  गाडी़ लेकर भागने लगा पुलिस ने पीछा कर कार को पकड़ लिया तथा उसमें बैठे चार युवकों को दबोच लिया तथा पूछताछ व तलाशी में उनके पास चार चाकू बरामद किए वही चारों ने अपने नाम आरिफ पुत्र मोमिन आरिफ उर्फ भूकम्प पुत्र गफ्फार प्यार मौहम्मद उर्फ प्यारो पुत्र शब्बीर निवासी गण मुण्डाली थाना मुण्डालीअ  व शगुन गुप्ता पुत्र मनोज गुप्ता निवासी नौएडा बताया तथा क्षेत्र में विद्युत तार व विद्युत ट्रांसफार्मर चोरी की घटना करना कबूल की पुलिस ने उनकी निशानदेही पर चोरी किए गए विद्युत तार व विद्युत ट्रांसफार्मर का सामान के साथ चोरी में प्रयुक्त की गई बुलैरो पीकप बरामद करते हुए अपने फरार साथियों के नाम राशिद पुत्र मोमीन रिजवान पुत्र अनवार आदिल पुत्र खुर्शेद निवासी गण मुण्डाली थाना मुण्डाली व नजर अली पुत्र नसीमुद्दीन  निवासी ककराला नौएडा शकील पुत्र अज्ञात राजपुर  शिम्भावली हापुड़ बताए गए ! साथ ही खरखौदा थाना  क्षेत्र में सात व परीक्षित गढ थाना क्षेत्र में दो विद्युत तार व विद्युत ट्रांसफार्मर चोरी करने की घटनाओं को अंजाम देना कबूल किया पुलिस ने सभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर चारों आरोपियों को जेल भेज दिया वहीँ फरार आरोपियों के यहाँ दबिश दी परंतु  आरोपी हत्थे नहीं चढे !