ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर धन्यवाद गोष्ठी सम्पन्न
July 2, 2020 • विकास दीप त्यागी • उत्तर प्रदेश
  • चिकित्सक राष्ट्र कि प्राण शक्ति हैं-राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

यूरेशिया संवाददाता

गाजियाबाद,,केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस" पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन कर चिकित्सकों का आभार व्यक्त किया गया।

गायत्री मंत्र व ईश्वर भक्ति के भजन के माध्यम से आचार्य महेन्द्र भाई  ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।

परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि ये दिन है संपूर्णं चिकित्सको के लिये सम्मान के दिन के रुप में मनाने का है जो मरीजों के जीवन को बचाने में अपना सब कुछ दाव पर लगा देते हैं।चिकित्सक दिवस अर्थात् एक पूरा दिन जो चिकित्सकों के प्रयासों और भूमिका को याद करने के लिये समर्पित है।ये एक दिन है उन्हें ढ़ेर सारा धन्यवाद कहने का जिन्होंने अपने मरीजों का ध्यान रखा,उन्हें लगाव और प्यार दिया।यदि दुनिया मे ईश्वर और माता पिता के बाद किसी का  सर्वाधिक सम्मान होता है तो वो चिकित्सक का होता है।चिकित्सक राष्ट्र का प्राण है।आज कोरोना काल मे हम चिकित्सकों को कोरोना योद्धा के रूप में जान रहे है जो अपनी जान पर खेल कर लोगो की सेवा कर रहें है।

संयोजक सौरभ गुप्ता ने गोष्ठी का संचालन करते हुए जानकारी दी कि राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के रुप में हर वर्ष 1 जुलाई को मनाया जाता है। 1991 में भारत सरकार द्वारा डॉक्टर दिवस की स्थापना हुई थी।भारत के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ बिधान चन्द्र रॉय (डॉ.बी.सी. रॉय)  जिन्होंने पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री के रूप में भी काम किया उन्हें श्रद्धांजलि और सम्मान देने के लिये 1 जुलाई को उनकी जयंती पर इसे मनाया जाता है। 4 फरवरी 1961 में उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

प्रान्तीय महामंत्री प्रवीण आर्य ने बताया कि उनका जन्म 1 जुलाई 1882 को बिहार के पटना में हुआ था।रॉय साहब ने अपनी डॉक्टर की डिग्री कलकत्ता व लंदन से पूरी की और भारत में एक चिकित्सक के रुप में अपने चिकित्सा जीवन की शुरुआत की।

श्रीमती प्रवीन आर्या ने हम होंगे कामयाब एक दिन के माध्यम से कोरोना योद्धाओं के लिए सम्मान व्यक्त किया।
 नरेन्द्र आर्य 'सुमन',संगीता आर्या, पुष्पा चुघ,किरण सहगल,राजश्री यादव आदि ने मधुर गीत सुनाये ।

प्रमुख रूप से डॉ आर के आर्य,यशोवीर आर्य,वीना वोहरा, आनन्द प्रकाश आर्य(हापुड़) , अभिमन्यु चावला,के एल राणा, देवेन्द्र भगत,अनिता आर्य,देवेन्द्र गुप्ता आदि उपस्थित थे।