ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
रोजगार सृजन में अपना योगदान दे सभी बैंक, शिक्षा ऋण बढ़ाये-भानू प्रताप
July 28, 2020 • विकास दीप त्यागी • मेरठ

  • बैंक बढ़ाये ऋणी जमा अनुपात, सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में करें सहयोग-पीडी डीआरडीए
  • बैंको ने प्रथम तिमाही तक दियें 2883.43 करोड रू0 के ऋण, सीडी रेषों बढ़ाये बैंक-लीड बैंक मैनेजर
  • नाबार्ड ने प्रारम्भ की चार अनुदान योजनाएं, 300-300 किसानों के बनेगे कृषि उत्पादक संगठन-जिला प्रबंधक नाबार्ड

यूरेशिया संवाददाता

 मेरठ  जिला स्तरीय समन्वय समिति की विकास भवन सभागार में आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुये परियोजना निदेषक भानू प्रताप सिंह ने कहा कि बैंक अपना ऋणी जमा अनुपात बढाये तथा सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में सहयोग करे। उन्होने कहा कि बैंक स्वरोजगार सबंधी योजनाओं के क्रियान्वयन में सहयोग कर रोजगार सृजन में अपना योगदान दे व षिक्षा ऋण बढ़ाये। वित्तीय वर्ष 2020-21 की प्रथम तिमाही पूर्ण होने के उपरान्त यह समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। इस अवसर पर 16 एजेण्डा बिन्दुओं पर चर्चा की गयी। 
 लीड बैंक मैनेजर (एलडीएम) संजय कुमार ने बताया कि जनपद के बैंको का कुल ऋण जमा अनुपात 56.05 प्रतिषत है जबकि यह 60 प्रतिषत से ऊपर होना चाहिए। उन्होने कहा कि बैंक अभी से ऋण जमा अनुपात को सुधारने के लिए प्रयास करें तथा अगली तिमाही की समाप्ति के उपरान्त आयोजित बैठक से पूर्व ऋण जमा अनुपात को 60 प्रतिषत से ऊपर करे। 
 उन्होने बताया कि जनपद में वित्तीय वर्ष 2020-21 में रू0 10830.20 करोड रू0 के वार्षिक ऋण योजना के सापेक्ष जून तिमाही तक 2883.43 करोड रू0 का ऋण वितरित किया गया जो कि 26.60 प्रतिषत है और औसत 25 प्रतिषत से अधिक है। उन्होने बताया कि जनपद में जून तिमाही तक प्राथमिक क्षेत्र व कमजोर वर्ग को 1806.49 करोड रू0 का ऋण वितरित किया गया साथ ही 148.20 लाख रू0 का 46 षिक्षा ऋण वितरित किये गये। जनपद में एसएमई सैक्टर में जून तिमाही तक 956.51 करोड रू0 का ऋण वितरित किया गया जो कि लक्ष्य का 47.12 प्रतिषत है।  
 नाबार्ड के डीडीएम रविषंकर ने बताया कि नाबार्ड द्वारा 04 प्रमुख अनुदान की योजनाएं चलायी जा रही है, जिसमें कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड, किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ), एग्री क्लीनिक एवं एग्री बिजनेस सैन्टर व न्यू एग्रीकल्चर मार्केट इन्फ्रास्ट्रक्चर है। उन्होने बताया कि कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड योजनान्तर्गत प्रोसेसिंग व स्टोरेज क्षेत्र में ऋण स्वीकृत होने पर 03 प्रतिषत का अनुदान अनुमन्य है तथा किसान उत्पादक संगठन में जनपद में 300-300 किसानों के 02 संगठन बनाने का लक्ष्य है, जिसमें 18 लाख रू0 तक का अनुदान अनुमन्य किया जा सकता है। 
 इस अवसर पर उपायुक्त उद्योग वी0के0 कौषल, सहायक निदेषक क्षेत्रीय सेवायोजन टी0एन0तिवारी, जिला कृषि अधिकारी प्रमोद सिरोही सहित विभिन्न बैंको से आये प्रतिनिधि अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहे।