ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
शहीद पुलिसकर्मियों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा: सीएम योगी
July 3, 2020 • विकास दीप त्यागी • उत्तर प्रदेश

यूरेशिया संवाददाता

कानपुर।  उप्र के कानपुर में बदमाशों के साथ मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मी मारे गए जबकि सात अन्य पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। घायलों का इलाज कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है जिसमें से चार की हालत गंभीर बनी हुई है। गुरुवार की देर रात पुलिस की टीम कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने चौबेपुर के बिकरू गांव गई थी। पुलिस के पहुंचते हुई विकास दुबे और उनके आदमियों ने पुलिस की टीम पर फायरिंग कर दी।

 इस घटना के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त हैं। सीएम योगी ने कहा कि शहीद पुलिसकर्मियां का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। सीएम ने ट्विट किया- कानपुर में 'कर्तव्य पथ' पर अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले आठ पुलिसकर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि। शहीद पुलिसकर्मियों ने जिस अपरिमित साहस व अद्भुत कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन किया, उत्तर प्रदेश उसे कभी भूलेगा नहीं। उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।      

वहीं, सीएम योगी ने डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी को तलब किया है। सीएम योगी ने कानपुर एनकाउंटर के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। सीएम ने इस मामले में तुंरत रिपोर्ट मंगवाई है। वहीं, सीएम ने इस मुठभेड़ में मारे गए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी है।  मुठभेड़ में इन पुलिसकर्मियों की हुई मौत  वेंद्र कुमार मिश्र, सीओ बिल्हौर महेश यादव, एसओ शिवराजपुर अनूप कुमार, चौकी इंचार्ज मंधना नेबूलाल, सब इंस्पेक्टर शिवराजपुर सुल्तान सिंह कांस्टेबल थाना चौबेपुर राहुल ,कांस्टेबल बिठूर जितेंद्र, कांस्टेबल बिठूर बबलू कांस्टेबल बिठूर पुलिस को रोकने के लिए लगाई थी जेसीबी पुलिस के पहुंचने ही विकास दुबे को इसकी भनक लग गई थी जिसके बाद उसने अपने आदमियों के साथ मिलकर सड़क पर पुलिस को रोकने के लिए जेसीबी लगा दी थी। यूपी के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के दबिश डालने के लिए पुलिस चौबेपुर थाना क्षेत्र के दिकरू गांव गई थी। पुलिस को रोकने के लिए इन्होंने पहले से ही जेसीबी लगाकर रास्ता रोक रखा था। पुलिस दल के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से फ़ायरिंग शुरू कर दी, जिसमें 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गए।

वहीं, सीएम योगी ने डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी को तलब किया है। सीएम योगी ने कानपुर एनकाउंटर के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। सीएम ने इस मामले में तुंरत रिपोर्ट मंगवाई है। वहीं, सीएम ने इस मुठभेड़ में मारे गए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी है।

मुठभेड़ में इन पुलिसकर्मियों की हुई मौत

  • वेंद्र कुमार मिश्र, सीओ बिल्हौर
  • महेश यादव, एसओ शिवराजपुर
  • अनूप कुमार, चौकी इंचार्ज मंधना
  • नेबूलाल, सब इंस्पेक्टर शिवराजपुर
  • सुल्तान सिंह कांस्टेबल थाना चौबेपुर
  • राहुल ,कांस्टेबल बिठूर
  • जितेंद्र, कांस्टेबल बिठूर
  • बबलू कांस्टेबल बिठूर

पुलिस को रोकने के लिए लगाई थी जेसीबी
पुलिस के पहुंचने ही विकास दुबे को इसकी भनक लग गई थी जिसके बाद उसने अपने आदमियों के साथ मिलकर सड़क पर पुलिस को रोकने के लिए जेसीबी लगा दी थी। यूपी के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के दबिश डालने के लिए पुलिस चौबेपुर थाना क्षेत्र के दिकरू गांव गई थी। पुलिस को रोकने के लिए इन्होंने पहले से ही जेसीबी लगाकर रास्ता रोक रखा था। पुलिस दल के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से फ़ायरिंग शुरू कर दी, जिसमें 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गए।