ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
शिक्षकों ने सरकार को दी खुली चुनौती : शैक्षिक गोष्ठी में लंबित प्रसंगों को लेकर आंदोलन करने का लिया गया निर्णय
February 12, 2020 • Vikas Deep Tyagi • बागपत/ बड़ौत

यूरेशिया संवाददाता

बड़ौत। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ठाकुराई गुट द्वारा बुधवार को नगर के जनता वैदिक मॉडर्न कॉलेज में शिक्षा एवं शिक्षकों की चुनौती कारण एवं निवारण विषय पर शैक्षिक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में जनपद के विभिन्न कॉलेजों के प्रधानाचार्य एवं शिक्षकों ने प्रतिभाग किया। मुख्य अतिथि के रूप में संयुक्त शिक्षा निदेशक ओपी द्विवेदी व जिला विद्यालय निरीक्षक बागपत उपस्थित रहे। गोष्ठी की अध्यक्षता प्रमोद प्रकाश व संचालन राजगुरु तोमर द्वारा किया गया। प्रांतीय उपाध्यक्ष डॉ उमेश त्यागी ने सरकार की नीयत और नियति पर सवाल उठाते हुए कहा कि जो उपलब्धियां सामूहिक संघर्षों से प्राप्त की थी, सरकार उन पर अब कुठाराघात करती आ रही है। पदों के सृजन पर रोक लगाकर पुरानी पेंशन को समाप्त कर और शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के अस्तित्व को भी समाप्त कर दिया गया है। प्रांतीय मंत्री सुशील कुमार ने शिक्षकों को आगाह किया कि भ्रष्ट व्यवस्था को बदलना होगा। जो लोग शिक्षकों के अधिकारों को समाप्त करने में सरकार के साथ मिले हैं उनसे हमें सावधान रहना होगा। प्रांतीय मंत्री एवं कार्यक्रम संयोजक सुशील चौधरी ने कहा कि सरकार बार-बार शिक्षकों के एवं शिक्षा व्यवस्था को सुधारने का संकल्प लेती है, लेकिन उसके विपरीत कार्य करती है। प्रबंध तंत्र शिक्षकों के उत्पीड़न पर उतारू है। शिक्षक गोष्ठी के माध्यम से ऐसे लोगों को खुली चुनौती दी जाती है कि अगर शिक्षकों का उत्पीड़न नहीं रोका तो आर पार की लड़ाई लड़ेगा।
 इस अवसर पर जिला मंत्री दीपक कुमार नैन, मंत्री देवेंद्र सोलंकी, डॉक्टर अरुण मलिक, तेजवीर यादव, जितेंद्र चौहान, विशाल राय, संजीव तोमर, अरविंद तोमर, सतीश वर्मा, राघवेंद्र, सदाराम आदि मौजूद रहे।