ALL मेरठ सहारनपुर मण्डल मुजफ्फरनगर बागपत/ बड़ौत उत्तर प्रदेश मुरादाबाद मंडल राष्ट्रीय राजनीतिक विविध करियर
स्वाईन फ्लू से लखनऊ तक हडकंप: मेडिकल कॉलेज में दो की ओर हुई मौत
February 28, 2020 • Vikas Deep Tyagi • मेरठ
  • १३ ६ वाहिनी पीएसी के जवान और हुए भर्ती संख्या जवानों की संख्या 30 पहुुंची

यूरेशिया संवाददात

मेरठ । जिले में स्वाइन फ्लू का खौफ तेजी से बढ रहा है। मेडिकल कालेज में शुक्रवार की सुबह दो स्वाइन फ्लू से पीडित मरीजों की मौत होने से हडंकप मच गया है। वही मेडिकल में शुक्रवार को ६ वाहिनी पीएसी के १३ और जवानों को भर्ती कराया गया है। जिसमें स्वाईन फ्लू के लक्षण दिखाई दे रहे है। मरने वाले आंकडा बढने से लखनऊ तक हडकंप मचा हुआ है। शनिवार को तीन सदस्य चिकित्सकों की टीम लखनऊ से मेरठ आ रही है। जिसको लेकर अधिकारियों में हडकंप मचा हुआ है। 
 बता दें  गुरुवार रात करीब दस बजे पीएसी छठीं बटालियन के 14 जवानों को स्वाइन फ्लू का अंदेशा देखते हुए मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। देर रात सीएमएस और प्राचार्य समेत मेडिकल स्टाफ ने वार्ड में पहुंचकर जानकारी ली। पूर्व में इलाजरत स्वाइन फ्लू पीडि़त तीन मरीजों ने गुरुवार को दम तोड़ दिया। वहीं शुक्रवार को दो मरीजों ने और दम तोड दिया। जिसमें एक टीबी से पीडित जाकिर कालोनी निवासी रिहाना की भी मौत हो गयी। एक अन्य मरीज भी मौत हो गयी। महिला मेरठ में स्वाइन फ्लू से अब तक ११ लोगों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को ६ वाहिनी पीएसी के जवानों को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया। जिसको खांसी, जुकाम , सर्दी की शिकायत दिखाई दे रही थी। आशंका जताई जा रही है। उनमें स्वाईन फ्लू केलक्षण है। संदिग्ध मरीजों को मेडीसिन विभाग के डॉ अरविंद, डॉ श्वेता शर्मा की देखरेख में आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। । सीएमएस डॉ धीरज राज ने बताया कि मरीजों के ब्लड प्रेशर, सांस, बुखार एवं अन्य मानकों की लगातार जांच की जा रही है। सभी जवानों के सैंपल सुबह जांच के लिए मेडिकल कॉलेज की माइक्रोबायोलॉजी लैब में भेजे गये है रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।
  वही सीएमओ कार्यालय में शुक्रवार को शहर केप्राइवेट अस्पतालों व नर्सिंग होम संचालकों के साथ सीएमओ डा राजकुमार ने बैठक करते हुए सभी को स्वाइन फ्लू के हर प्रकार की सुविधा रखने के निर्देश दिये है। उन्होंने उन अस्पतालों व नर्सिग होम के संचालकों को भी दिशा निर्देश दिये जहां पर निरीक्षण के दौरान कमी पायी गयी थी।